गाँव की याद / Gaon Ki Yaad – Hansraj Raghuwanshi

Gaon Ki Yaad Lyrics in Hindi – ‘Gaon Ki Yaad’ is a new Hindi song sung by Hansraj Raghuwanshi. Lyrics of Gaon Ki Yaad song are written by Hansraj Raghuwanshi. Music label is Hansraj Raghuwanshi.

Song – Gaon Ki Yaad
Singer – Hansraj Raghuwanshi
Lyrics – Hansraj Raghuwanshi
Music Label – Hansraj Raghuwanshi

Gaon Ki Yaad Lyrics in Hindi

सरनाटा ही सरनाटा है
गलियों में है तन्हाई
सरनाटा ही सरनाटा है
गलियों में है तन्हाई

शहरों को छोड़ छाड़ के
आज गाँव की याद है आयी
शहरों को छोड़ छाड़ के
आज गाँव की याद है आयी

फिरसे वोही मैं तरसा आँगन को
जब चाहे उड़ जाएँ
जब चाहे मुड़ जाएँ
जब चाहे उड़ जाएँ
जब चाहे मुड़ जाएँ
अपने देश को

(संगीत)

कुदरत को लूटा
मानुस को लूटा
सफ़ेद चोला ओढ़े
माल जम के काला कूटा
मास मच्छी जो मिला सब खा गए
मानव के भेस में बाबा देखो दानव आ गए
नाम भगवान का पैसा अंदर किया
भ्रष्ट हर एक दर, हर मंदिर किया
अब सजा पापो की जब है मिलने लगी
दुनिया थर थर डर से है हिलने लगी
होगी ना हमसे भूल, सीख मिल गयी है बाबा
होगी ना हमसे भूल, सीख मिल गयी है अब
हम बच्चे है तेरे भोले अब तो माफ़ कर दे
अब तो माफ़ कर दे

(संगीत)

मैं फसा परदेस में मेरी अम्मा बिटिया रोये
मैं फसा परदेस में मेरी अम्मा बिटिया रोये
ऐसा भी क्या गुनाह किया रे
मानुस पिंजरे में रोये
भोले ऐसा भी क्या गुनाह किया रे
मानुस पिंजरे में रोये

थक गए से सारे निंदिया ना आये
थक गए से सारे निंदिया ना आये

फिरसे वोही मैं तरसा आँगन को
जब चाहे उड़ जाएँ
जब चाहे मुड़ जाएँ
जब चाहे उड़ जाएँ
जब चाहे मुड़ जाएँ
अपने देश को

फिरसे वोही मैं तरसा आँगन को
फिरसे वोही मैं तरसा आँगन को

We hope you understood song Gaon Ki Yaad lyrics in Hindi. If you have any issue regarding the lyrics of Gaon Ki Yaad song by Hansraj Raghuwanshi, please contact us. Thank you.

Share on