तेरी रहमतो का दरिया / Teri Rehmato Ka Dariya

Teri Rehmato Ka Dariya Lyrics is an Islamic Qawwali sung by Hamsar Hayat Nizami. Lyricist of the  qawwali is Hamsar Hayat Nizami. Music Label is JMD Music & Films

Song Name – Teri Rehmato Ka Dariya
Singer Name – Hamsar Hayat Nizami
Music Director – Sundram Khan , Suraj Kumar
Lyrics – Hamsar Hayat Nizami , Mobin Tariq
Recording – S.Kalyani
Special Thanks – Ismail Malik
Copyright – JMD Video

Teri Rehmato Ka Dariya Lyrics In Hindi

ख्वाजा तेरे करम से ज़माने में बात है
बन्दे को नाज है कि तू बंदा नवाज है

तेरी रहमतो का दरिया सरेआम चल रहा है
तेरी रहमतो का दरिया सरेआम चल रहा है
मुझे भीख मिल रही है तो मेरा काम चल रहा है
मुझे भीख मिल रही है तो मेरा काम चल रहा है

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

ख्वाजा मोईनोदीन करतबा दा राज है
भारत की सर जमीन पे ख्वाजा का राज है
जिसको नवाजा ख्वाजा ने वो सरफराज है
बन्दे को नाज है की तू बंदा नवाज है

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

दुनिया में जो कायम तेरे मंगतो का भरम है
ये तेरी इनायत है ये सब तेरा करम है
तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

नूर-ए नबी से दिल को मुन्नवर बना दिया
कतरे को तूने चाहा समंदर बना दिया
तेरे करम की ख्वाजा मैं और क्या मिसाल दूँ
किस्मत का तूने मुझे सिकंदर बना दिया

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

चमका दिए है तूने मुक्कदर के सितारे
रेहमत के फूल खिल गए आँगन में हमारे
तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

तुमने लुटाया है दर कद्दार का सदका
तूने दिया है एहमद-ए मुख्तार का सदका
तेरा बड़ा एहसान मेरे खानदान पर
खाते है हम ख्वाजा तेरे दरबार का सदका

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

नूर-ए नबी का नूर है तू पंजतनी है
दोनों जाहां में तुझसे मेरी बात बनी है
तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

मुश्किल कुशा का लाल है औलाद पयंबर
तेरे करम से हो गए अब दाल कलंदर
ख्वाजा तेरी गुलामी पे हम सबको नाज है
ख्वाजा मेरा पैजान करम का है समंदर

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

तन मन को मेरे रंग दिया चिस्ती बाहार से
शाहो ने भीख पाई है तेरे दयार से
तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

तू है अता-ए मुस्तपा इमां का उजाला
तेरे करम ने सारे ज़माने को संभाला
मशहूर कर दिया है मुझे सारे जाहाँ में
कहता मोइनुदीन का है चाहने वाला

तेरा करम ये तो तेरा करम है
ख्वाजा पिया ये तो तेरा करम है

तेरी मस्त ये नज़र से बना चिस्ती मैकदा है
तेरी मस्त ये नज़र से बना चिस्ती मैकदा है
कहीं मैं बरस रही है कही जाम चल रहा है
कहीं मैं बरस रही है कही जाम चल रहा है

उसे क्या मिटाये दुनिया जिसे आपने नवादा
उसे क्या मिटाये दुनिया जिसे आपने नवादा
नक़्शे कदम पे तेरे ये गुलाम चल रहा है
नक़्शे कदम पे तेरे ये गुलाम चल रहा है

तारीकियों में गम था ये हयात सूफी हमसर
तारीकियों में गम था ये हयात सूफी हमसर
तेरी निस्बतों के सदके में ये निज़ाम चल रहा है
तेरी निस्बतों के सदके में ये निज़ाम चल रहा है

तेरी रहमतो का दरिया सरेआम चल रहा है
तेरी रहमतो का दरिया सरेआम चल रहा है

Teri Rehmato Ka Dariya Sare Aam Chal Raha Hai
Mujhe Bheekh Mil Rahi Hai Toh Mera Kaam Chal Raha Hai

Share on