नाच / Naach Lyrics – Addy Nagar & STK

Naach lyrics is a new non-film song sung by Addy Nagar and STK. Song is written by Addy Nagar and STK. Music by STK. Enjoy the lyrics of the song.

Song – Naach
Singer – Addy Nagar & STK
Lyrics – Addy Nagar & STK
Music – Music STK
Female Lead – Radhika Bangia

(English)

Saari raat club me naach-naach ke
Aag laga rahi hai
Dekhe naa wo aas paas bus khurak mita rahi hai
Saari raat club me naach-naach ke
Aag laga rahi hai
Dekhe naa wo aas paas bus khurak mita rahi hai
(To mai keha naach)

(Music)

Baby naache halke-halke
Naa jhapak rahi ye palkein
Kisi ko paas naa aane de
Sab raakh ho gaye jal ke

Ab tak heel bhi iski nikal gayi
Pairon par bhi control nahi
Floor ko aise samjhe ki
Ye gadde hein makhmal ke

Saari raat club me naach-naach ke
Aag laga rahi hai
Dekhe naa wo aas paas bus khurak mita rahi hai
(To mai keha naach)

(Music)

image

Beshak tu naach naach ke tod de sandal
Tod naa mera dil (bro)
Maine pucha mere saath bhi kar lo
Dur se kehti chill (bro)
Khubsurti, khub ghurti
Lage jhumti jaa rahi hai
Aur cute si lage, mute si rahe
Ghoont pe ghoont chadha rahi

Re re re re khudak mita rahi hai
Arey re re re re hudak jaga rahi hai
Arey re re re re khudakti jaa rahi hai
Arey bhai yo to galat bimaari hai

Saari raat club me naach-naach ke
Aag laga rahi hai
Dekhe naa wo aas paas bus
(To mai keha naach)

(Hindi )

सारी रात क्लब में नाच नाच के
आग लगा रही है
देखे ना वो आस पास बस खुरक मिटा रही है
सारी रात क्लब में नाच नाच के
आग लगा रही है
देखे ना वो आस पास बस खुरक मिटा रही है
(तो मैं केहा नाच)

(संगीत)

बेबी नाचे हल्के हल्के
ना झपक रही ये पलके
किसी को पास ना आने दे
सब राख हो गए जलके

image

अब तक हील भी इसकी निकल गयी
पैरों पर भी कंट्रोल नही
फ्लोर को ऐसे समझे कि
ये गद्दे है मखमल के

सारी रात क्लब में नाच नाच के
आग लगा रही है
देखे ना वो आस पास बस खुरक मिटा रही है
(तो मैं केहा नाच)

(संगीत)

बेशक तू नाच नाच के तोड़ दे सैंडल
तोड़ ना मेरा दिल
मैंने पूछा मेरे साथ भी कर लो
दूर से कहती चिल
ख़ूबसूरती, खूब घूरती
लगे झूमती जा रही है
और क्यूट सी लगे, म्यूट सी रहे
घूँट पे घूँट चढ़ा रही है

रे रे रे रे ख़ुरक मिटा रही है
अरे रे रे रे रे खुड़क जगा रही है
अरे रे रे रे रे खुडकती जा रही है
अरे भाई यो तो गलत बिमारी है

सारी रात क्लब में नाच नाच के
आग लगा रही है
देखे ना वो आस पास बस खुरक मिटा रही है
(तो मैं केहा नाच)

Leave a Reply

Your email address will not be published.