हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता

Hamare Sath Shri Raghunath Lyrics in Hindi – ‘Hamare Sath Shri Raghunath’ is a Hindi bhajan sung by Prembhushan Ji Maharaj. Lyrics of Hamare Sath Shri Raghunath To Kis Baat Ki Chinta bhajan are written by Brijesh. Enjoy the lyrics of the bhajan.


Bhajan – Hamare Sath Shri Raghunath
Singer – Prembhushan Ji Maharaj
Lyrics – Brijesh


Hamare Sath Shri Raghunath To Kis Baat Ki Chinta Lyrics in Hindi

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता
शरण में रख दिया जब माथ तो किस बात की चिंता
शरण में रख दिया जब माथा तो किस बात की चिंता

(संगीत)

किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता
किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता
किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता
किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता

तेरे स्वामी
तेरे स्वामी को रहती है तेरी हर बात की चिंता
तेरे स्वामी को रहती है तेरी हर बात की चिंता

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता

(संगीत)

न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की
न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की
न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की
न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की

रहे हर स्वास
रहे हर स्वास में भगवान के प्रिय नाम की चिंता
रहे हर स्वास में भगवान के प्रिय नाम की चिंता

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता

(संगीत)

विभीषण को अभय वर दे किया लंकेश पल भर में
विभीषण को अभय वर दे किया लंकेश पल भर में
विभीषण को अभय वर दे किया लंकेश पल भर में
विभीषण को अभय वर दे किया लंकेश पल भर में

उन्ही का हाँ, उन्ही का हाँ
उन्ही का हा कर रहे गुणगान तो किस बात की चिंता
उन्ही का हा कर रहे गुणगान तो किस बात की चिंता

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता

(संगीत)

हुई भक्त पर कृपा बनाया दास प्रभु अपना
हुई भक्त पर कृपा बनाया दास प्रभु अपना
हुई भक्त पर कृपा बनाया दास प्रभु अपना
हुई भक्त पर कृपा बनाया दास प्रभु अपना

उन्ही के हाथ
उन्ही के हाथ में अब हाथ तो किस बात की चिंता
उन्ही के हाथ में अब हाथ तो किस बात की चिंता

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता

शरण में रख दिया जब माथ तो किस बात की चिंता
शरण में रख दिया जब माथ तो किस बात की चिंता

हाँ हाँ किस बात की चिंता
अरे किस बात की चिंता
किस बात की चिंता


We hope you understood song Hamare Sath Shri Raghunath lyrics in Hindi and English both. If you have any issue regarding the lyrics of Hamare Sath Shri Raghunath To Kis Baat Ki Chinta song, please contact us. Thank you.

3 thoughts on “हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता”

    1. श्रीराम रामस्नेही त्रिवेदी

      ये भजन सुनते ही और महाराज जी के साथ गाने से, रघुनाथ जी की कृपा से और महाराज जी के आशीर्वाद से एक अलग सात्विक आनंद प्राप्त होता है जो की परमानंद की अनुभूती कराता है और उसी समय मनुष्य प्राणी श्री रघुनाथ जी की कृपा और महाराज जी के आशीर्वाद से निश्चिन्त हो जाता है ये मेरा स्वयं का अनुभव है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.